छात्र ने RTI से मांगी ज़वाब, नहीं देने पर दिल्ली विश्वविद्यालय के खिलाफ़ दर्ज़ की शिकायत

छात्र ने RTI से मांगी ज़वाब, नहीं देने पर दिल्ली विश्वविद्यालय के खिलाफ़  दर्ज़ की शिकायत

दिल्ली विश्वविद्यालय के कानून के छात्र रहे भूषण कुमार ने मुख्य कार्यकारी आयोग के समक्ष दिल्ली विश्वविद्यालय के खिलाफ़ शिकायत दर्ज़ करायी है। 28 जून 2020 को कुमार ने विश्वविद्यालय से डीयू ओबीई के बारे में जानकारी हेतु RTI दाख़िल किया जिसका ज़वाब दिल्ली विश्वविद्यालय द्वारा नहीं दिया गया। कुमार ने 5 अगस्त 2020 को पहली अपील दायर की थी जिसमे ऑनलाइन OBE परीक्षा के बारे में विवरण माँगा गया था।

हालाँकि दिल्ली विश्वविद्यालय से इस चीज़ को लेकर कोई गूंज नहीं उठी। प्रतिक्रियाएँ जो विश्वविद्यालय को की देनी चाहिए थी, न ही RTI का जवाब आया और न ही अपील का। डीयू ओपन बुक एग्जाम, कई आलोचनाओं के बीच महीनों बाद विश्वविद्यालय के शिक्षकों तथा छात्रों से ऑनलाइन मोड़ में करायी गयी। OBE का पहला चरण 10 अगस्त से शुरु हुआ था जबकि दूसरा चरण 14 सितम्बर को शुरू हुआ था।

RTI दाख़िल हुए लगभग 3 महीनें हो चुके हैं परंतु दिल्ली विश्वविद्यालय के कानों पर जूं तक न रेंगी। 28 जून को कुमार द्वारा दायर RTI में विश्वविद्यालय के अनुदान आयोग के दिशानिर्देशों का ब्योरा माँगा जो दिल्ली विश्वविद्यालय को OBE परीक्षा करने के सम्बन्ध में दिया गया था। इसके अलावा कुमार ने मिनटों की प्रतियों के लिए कहा जिसमे OBE का निर्णय लिया गया था। RTI में OBE से कुल लागत, संचालन में आईटी कंपनियों की भूमिका, OBE पोर्टल के लिए किये गए कुल ख़र्च इत्यादि का लेखा-जोखा सहित जानकारी मांगी गई है।

दिल्ली विश्वविद्यालय ने 23 सितम्बर 2020 को OBE परीक्षाओं को लेकर चल रही याचिका की सुनवाई के दौरान दिल्ली उच्च न्यायालय को बताया की विश्वविद्यालय अंतिम अक्टूबर से पहले DUOBE परिणाम जारी नहीं कर सकता है। इसके अलावा, विश्वविद्यालय जल्द ही स्नातक और स्नातकोत्तर छात्रों के लिए प्रचार परिणाम जारी करने जा रहा है। उनलोगों के लिए फ़ायदेमंद साबित होगा जो जल्द ही विदेश में प्रवेश चाहते हैं।

Comments

Ranjan Kumar Gupta

Ranjan Kumar Gupta is a student of Delhi School Of Journalism, University of Delhi. He is also an Ex-Navodayan (J.N.V KAIMUR, BIHAR). He writes to bring about good changes in thoughts and processes.