किसान बिल को मिली राष्ट्रपति की मोहर

किसान बिल को मिली राष्ट्रपति की मोहर


राज्यसभा एवं विभिन समस्तर पर विरोध के बावजूद कृषि सुधार से संचित विधेयकों को मंजूरी दे दी गई है, जिसके तहत विधेयक अब कानून के रूप में अर्जित हो चूका है । इनमें कृषि उत्पादन व्यापार और वाणिज्य विधेयक, कृषि मूल्य आश्वासन और कृषि सेवा विधेयक और आवश्यक वस्तु विधेयक शामिल हैं। इन विधेयको को राज्यसभा के मानसून सत्र में पारित किया गया था , सभा के दौरान विपक्षी नेताओ ने जम कर विरोध किया ,कई नेताओ ने अपनी सीमा तक लांघ दी थी , जिसका उन्हें खामिजा निलंबन के रूप में भुगतना पड़ा था |
कृषि उत्पादन व्यापार और वाणिज्य विधेयक किसानों को उनकी उपज देश में कहीं भी, किसी भी व्यक्ति या संस्था को बेचने की अनुमति देता है, वही कृषि मूल्य आश्वासन और कृषि सेवा पर करार विधेयक बोआई से पहले किसानो को अपनी फसल का तय मानक और तय कीमत के अनुसार बेचने तथा संविदा करने की सुविधा प्रदान करता है ।
विरोध – समर्थन , सत्य – असत्य ,विभिन बयान बाजियों के बीच प्रधान मंत्री ने मन की बात कार्यक्रम के जरिये श्रोतो को हुए भ्रम तथा गलत मार्गदर्शन को दूर करने तथा सही जानकारी साझा करने का प्रयास किया ।

Comments

Aduiti Shreya

I am a dream aspirant,  I aspire my dream as I don't want my dreams to be hallucination I want it to be a reality and for that, I am ready to give my best